Here we have the best collection of Nature Quotes in Hindi.

Share these amazing Nature Quotes in Hindi with your Friends and Family.

1.”कुदरत ने तराशा है और इंसानों ने संभाला है I”

2.”कुदरत ने तराशा है और इंसानों ने संभाला है I”

3.वह इस दुनिया में सबसे धनवान है, जो कम से कम में भी संतुष्ट है, क्योंकि संतुष्टि ही प्रकृति की दौलत है !!

4.प्रकृति सादगी से प्रसन्न होती है। और प्रकृति कोई बनावटी नहीं है 

5.पृथ्वी और आकाश, जंगल और मैदान, झीलें और नदियाँ, पहाड़ और समुद्र, ये सभी उत्कृष्ट शिक्षक हैं। और हम में से कुछ को इतना कुछ सीखाते हैं जितना हम किताबों से नहीं सीख सकते।

6.”बारिश का मौसम याद दिलाते हैं गरम चाय, स्वेटर और अरुणाचल I”

7.मैंने अपनी पूरी ज़िन्दगी वहाँ कांटे निकालने और फूल लगाने का प्रयास किया है, जहाँ वो विचारों और मन में बड़े हो सकें !!

8.प्रकृति में प्रकाश रंगों की गति बनाता है

9.प्रकृति की सभी चीजों में कुछ ना कुछ अदभुत है

10.”यहाँ धूप क्या, क्या सावन, बहारें भी बरसती है I”

11.अनुकूल बने या फिर पूरी तरह ख़त्म हो जाएं, अब या फिर कभी भी, यही प्रकृति की कठिन ज़रूरत है !!

12.फूल सबसे प्यारी चीजें हैं जिन्हें भगवान ने बनाया है और एक आत्मा को डालना भूल गए हैं। 

13.मुझे लगता है के में एक पेड़ जितनी सुंदर कविता कभी नहीं देख सकता।

14.”जब सफ़ेद चादर से लिपटी ये धरती और नीले से आसमान, तो दोनों लगते हैं एक सामान I”

15.पानी की याददाश्त सबसे अच्छी होती है, वह हमेशा वहाँ जाने का प्रयास करता है, जहाँ वो पहले था !!

16.सूर्यास्त अभी भी मेरा पसंदीदा रंग है, और इंद्रधनुष दूसरा।

17.तकनीक ऑर विज्ञानं भी प्रकृति में व्याप्त हैं, कोई बाहर से नहीं लेकर आया।

18.”कुछ तो बात है इन हवाओं में, वरना साथ इन्हें पंछियों का ना मिलता I”

19.और वो दिन आ गया जब कली के अंदर बंद रहने का जोख़िम खिलने के जोख़िम से अधिक दर्दनाक था !!

20.पतझड़ एक दूसरे बसंत की तरह है जब सभी पत्तियाँ फूल बन जाती हैं !!

21.एक दोस्त अच्छी तरह से प्रकृति की उत्कृष्ट कृति को गिना सकता है।

22.केटरपिलर जिसे दुनिया का अंत कहता है, मास्टर उसे तितली कहते हैं

23.”अरुणाचल की वादियां, धान की क्यारियाँ, बहकती फिजा, मुस्कुराती कलियाँ I”

 24.पक्षी तूफ़ान के गुज़र जाने के बाद भी गाना गाते रहते हैं, फिर क्यों नहीं लोग भी जो कुछ बचा है उसी में ही प्रसन्न रहने के लिए खुद को स्वतंत्र महसूस करते हैं !!

25.शरद ऋतु एक दूसरा वसंत है जब हर पत्ती एक फूल होती है। 

26.प्रकृति से की गयी छेड़छाड़ आगे जाकर विनाश का कारण बनती है ।

27.”यहाँ खुशबू है वादियों में, यहाँ खुशबू है लोगों के किरदारों में I”

28.प्रकृति में आप गहराई से देखो, फिर आप सब कुछ बेहतरीन तरीक़े से समझ पाओगे !!

29.अपनी जड़ो की गहराईयों में सभी फूल प्रकाश रखते हैं !!

30.पृथ्वी की कविता कभी मृत नहीं होती।

31.तितली महीनों नहीं बल्कि क्षणों की गिनती करती है, और उसके पास पर्याप्त समय होता है।

32.सबसे धनवान वह है जो कम से कम में संतुष्ट है क्योंकि संतुष्टि प्रकृति कि दौलत है

33.”ये हंसी वादियां, ये खुशनुमा समा, ये ठंडी हवा, ये झुका आसमां I”

34.पृथ्वी, प्रकाश, आकाश, मैदान, जंगल, झीले, नदियाँ और समुद्र ये सभी एक बेहतरीन शिक्षक हैं, और हम में से कुछ को तो ये इतना कुछ सिखाते हैं जितना हम किताबों से कभी नहीं सीख पाते हैं !!

35.यदि आप प्रकृति से सच्चा प्यार करते हैं, तो आपको हर जगह सुंदरता मिलेगी।

36.चीजों के प्रकाश में सामने आओ, प्रकृति को अपना शिक्षक बनने दो

37.”जैसे बर्फ पहाड़ों को ढक लेती है, तो उसकी सुंदरता बढ़ जाती है I”

38.अगर आप पृथ्वी की ख़ूबसूरती को देखना चाहते हो, तो मैदान में खिलखिलाते इन फूलों को देखो क्योंकि पृथ्वी फूलों में हंसती है !!

39.प्रकृति यात्रा करने का स्थान नहीं है, यह घर है। गैरी स्नाइडर

40.ऐसे ग्रहों के लोग जहाँ फूल नहीं होते वे यही सोचेंगे की हम हर समय ख़ुशी से पागल रहते होंगे कि हमारे पास ऐसी चीजें हैं. 

41.”यहाँ प्रकृति की सभी चीजों में कुछ ना कुछ अद्भुत है I”

42.अगर आप ध्यान से तो हर फूल प्रकृति में खिली आत्मा है !!

43.प्रकृति की खोज करके, आप स्वयं को खोजते हैं। मैक्सिमे लगैसे

44.मैं भगवान में विश्वास रखता हूँ बस मैं उसे प्रकृति कहता हूँ. 

45.”कितनी सादगी है इन हवाओं में, देखो फ़िज़ाएं बरस रहीं हैं I”

46.अपनी पहली सांस लेने के पहले के नौ महीने अगर छोड़ दिए जाएं तो इंसान अपने काम इतनी अच्छे तरीक़े से नहीं करता जितना कि एक पेड़ करता हैं !!

47.मैंने जंगल में सैर की और पेड़ों से ऊँचा निकल आया। हेनरी डेविड थॉरो

48.पहाड़ बुला रहे हैं और मुझे अवश्य जाना चाहिए। जॉन मुइर

49.वो ही सबसे अधिक धनवान है जो कम से कम में संतुष्ट है क्योंकि संतुष्टि ही कुदरत की देन है ।

50.”हम फ़िज़ाओं में कहीं गुम हो गये, जब से हमें मिज़ोरम की फ़िज़ाओं की आदत हुई I”

51.प्रकृति की गति को अपनाएं। उसका रहस्य धैर्य है। -राल्फ वाल्डो इमर्सन

52.जो लोग प्रकृति से दूर होते हैं वो गरीब हैं ।

53.”प्रकृति से रु ब रु होने के बाद ही, मुझे खुद से रु ब रु होना आया I”

54.फूल सबसे प्यारी चीज़ो में से एक है जिसे भगवान ने बनाया लेकिन उसमें आत्मा डालना भूल गए !!

55.रंग प्रकृति की मुस्कुराहट हैं।

56.मनुष्य का पहला कर्तव्य पर्यावरण सुरक्षा।

57.”जब मैं यहाँ की प्रकृति से मिला, फिर किसी और से मिलने की चाह ना रही I”

58.आशा जो है वो एक ऐसी मधुमक्खी है, जो बिना फूलों के शहद बनाती है !!

59.पृथ्वी फूलों में हंसती है। 

60.हर फूल प्रकृति में खिली आत्मा है.

61.”जितना आप प्रकृति के ओर जाएंगे वो उतना ही आपकी ओर आएगी I”

62.मैं भगवान में विश्वास रखता हूँ, लेकिन फ़र्क बस इतना है कि मैं उसे प्रकृति कहता हूँ !!

63.प्रकृति बस पर्याप्त है; लेकिन पुरुषों और महिलाओं को उसके सुझावों को समझना और स्वीकार करना होगा।

64.प्रकृति उपदेश देने से अधिक सीखाती है. शिलाओं पर धर्मोपदेश नहीं लिखे होते. पत्थरों से नैतिकिता की बातें निकालने से आसान है चिंगारी निकालना.

65.”हवा के झोकों के जैसे आज़ाद रहना सीखो, तुम एक दरिया हो, लहरों की तरह बहना सीखो I”

66.पेड़ों के बीच बिताया गया समय कभी व्यर्थ नहीं जाता है।

67.अपनी पहली सांस लेने के पहले के नौ महीने छोड़ दिया जाए तो इंसान अपने काम इतने अच्छे ढंग से नहीं करता जितना कि एक पेड़ करता है. 

68.”आप नहीं भूल पायेंगे यहाँ की शाम, ये है मिज़ोरम, ये है मिज़ोरम I”

69.मेरे सारे जीवन मे, प्रकृति के नए स्थलों ने मुझे एक बच्चे की तरह आनन्दित किया।

70.सिर्फ जीना ही काफी नहीं है…आपके के पास धूप, स्वतंत्रता और एक छोटा सा फूल भी होना चाहिए. 

71.हरा रंग दुनिया का प्रमुख रंग है, और इसी से इसका प्रेम उत्पन्न होता है। पेड्रो काल्डेरोन डे ला बारका

72.पतझड़ एक दूसरे बसंत की तरह है जब सभी पत्तियाँ फूल बन जाती हैं. 

73.”मिज़ोरम की फ़िजा से ज़िंदगी को नई लहर मिली, वहां के दरिया से बहने का नया हुनर मिला, कुछ इस तरह, मैं अपने ख्वाबों से मिला I”

74.मेरा ये मानना है कि यदि कोई हमेशा आकाश की तरफ देखें तो उसके पर निकल आएंगे !!

75.हर फूल प्रकृति में खिलने वाली आत्मा है। गेरार्ड डी नर्वल

76.प्रकृति में गहराई तक देखें और तब आप सब कुछ बेहतर समझ पाएँगे।”

77.उम्मीद ही एक ऐसी मधुमक्खी है जो बिना फूलों के शहद बनाती है.

78.”आप खुद से मिलते हैं जब आप प्रकृति को करीब से देखते हैं I”

79.यदि कोई तरीका दूसरे तरीके से बेहतर है तो आप निश्चित रूप से कह सकते हो कि वो प्रकृति का तरीका है !!

80.प्रकृति हमेशा आत्मा के रंग पहनती है।

81.बसंत; प्रकृति का कहने का तरीका है कि,” चलो जश्न मनाएं!

82.”आत्मा की शांति के लिए प्रकृति ही एक मात्रा जगह है I”

83.कुछ पुराने जमाने की चीजें जैसे ताजी हवा और धूप को हराना मुश्किल है।

84.प्रकृति हमारी सभी जरूरतों को पूरा करने के लिए पर्याप्त संसाधन उपलब्ध करवाती हैं, लेकिन हमारे लालच को पूरा करने के लिए नहीं।

85.”प्रकृति जो धुन सुनती है वो सबसे सुरीली होती है I”

86.प्रकृति द्वारा बनाई गई सभी चीज़ों में कुछ न कुछ अद्भुत ज़रूर है !!

87.प्रकृति में गहराई से देखें, और फिर आप सब कुछ बेहतर समझेंगे।

88.यह मत भूलो की धरती तुम्हारे पैरों को महसूस करके खुश होती है और हवा तुम्हारे बालों से खेलना चाहती है.

89.”जंगल इंसानों के लिए धरती पर स्वर्ग है I”

90.सिर्फ जीना ही काफी नहीं होता है, उसके साथ-साथ आपके पास धूप, स्वतंत्रता और एक छोटा सा फूल भी होना चाहिए !!

91.यदि हमने पृथ्वी की बुद्धिमत्ता के सामने आत्मसमर्पण कर दिया तो हम पेड़ों की तरह जड़ें जमा सकते हैं।

92.सभी फूल अपनी जड़ों की गहराइयों में प्रकाश रखते हैं

93.”प्रकृति के पास आपके सारे सवालों के जवाब हैं I”

94.अधिकता में सब कुछ प्रकृति के विपरीत है।

95.वो सबसे धनवान है जो कम से कम में संतुष्ट है। क्योंकि संतुष्टि प्रकृति कि दौलत है।

96.”हर प्रकार के लोगों को सुख देने की शक्ति केवल प्रकृति के पास ही है I”

97.अपना चेहरा सूर्य की प्रकाश की तरफ रखिये फिर देखिए आपको कोई परछाई दिखाई नहीं देगी !!

98.वहां उनके लिए हमेशा फूल हैं, जो उन्हें देखना चाहते हैं।   

99.प्रकृति बड़ी समझदार ऑर मेहरबान हैं उसने इंसान को सोचने की क्षमता का सबसे बड़ा वरदान दिया हैं लेकिन अफ़सोस की बात हैं की बहुत

100.”प्रकृति ज्ञान का समंदर है I”

101.मनुष्य ने आगे की चीज़ें देखने और अनुमान लगाने की क्षमता गवां दी है, उसका अंत पृथ्वी का विनाश करने से होगा !!

102.वहां उनके लिए हमेशा फूल हैं, जो उन्हें देखना चाहते हैं।

103.पक्षी तूफ़ान के गुजरने के बाद भी गाना गाते हैं क्यों नहीं लोग भी जो कुछ बचा है उसी में खुश रहने के लिए खुद को स्वतंत्र महसूस करते हैं. 

I hope you liked the best collection of 101+ Nature Quotes in Hindi


Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.